मेक्केल डायवर्टीकुलेक्टॉमी क्या है, खर्च कब, क्यों और कैसे होती है

36


मेक्केल डायवर्टीकुलेक्टॉमी एक सर्जरी प्रोसीजर है, जिसकी मदद से मेक्केल डायवर्टिकुलम (Meckel’s diverticulum) को निकाला जाता है, इसे एमडी भी कहा जाता है। यह एक थैली जैसी संरचना होती है, जो असाधारण रूप से छोटी आंत में विकसित हो जाती है। यह आमतौर पर तभी विकसित हो जाती है, जब बच्चा गर्भ में विकसित हो रहा होता है। यह थैली आमतौर पर छोटी आंत के उस हिस्से में विकसित होती है, जो बड़ी आंत से जुड़ा होता है। मेक्केल डायवर्टिकुलम से आमतौर पर रक्तस्राव होना, मल में खून आना, कब्ज और उल्टी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

मेक्केल डायवर्टीकुलेक्टॉमी सर्जरी की मदद से इन सभी लक्षणों से राहत मिलती है। यदि एमडी को एक बार निकाल दिया जाए, तो यह फिर से विकसित नहीं होता है। मेक्केल डायवर्टीकुलेक्टॉमी करने के लिए दो सर्जरी प्रोसीजर उपलब्ध हैं, जिन्हें लेप्रोस्कोपिक और ओपन सर्जरी कहा जाता है। लेप्रोस्कोपिक में छोटे-छोटे कई कट जबकि ओपन सर्जरी में एक बड़ा चीरा लगाया जाता है। मेक्केल डायवर्टीकुलेक्टॉमी सर्जरी के बाद आपको एक दिन से एक हफ्ते तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ सकता है, जो आपके स्वास्थ्य स्थिति पर निर्भर करता है।

External Content

(और पढ़ें –  जठरांत्र में रक्तस्राव के कारण)



Source link

Sponsored: