मायोकार्डियल इस्किमिया के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार, डॉक्टर, बचाव

52


मायोकार्डियल इस्किमिया का इलाज – Myocardial Ischemia Therapy in Hindi

मायोकार्डियल इस्किमिया का इलाज करने के लिए डॉक्टर कई दवाइयां लेने की सलाह दे सकते हैं. इसके अलावा, एंजियोप्लास्टी, कोरोनरी आर्टरी बायपास सर्जरी के जरिए भी इसका इलाज किया जा सकता है. आइए, मायोकार्डियल इस्किमिया के इलाज के बारे में विस्तार से जानते हैं –

दवाइयां

External Content

डॉक्टर कुछ दवाइयों के सेवन की सलाह दे सकते हैं, जिससे मायोकार्डियल इस्किमिया को ठीक करने में मदद मिलती है.

(और पढ़ें – हृदय के कौन-कौन से टेस्ट होते हैं)

एंजियोप्लास्टी

एंजियोप्लास्टी प्रक्रिया में एक लंबे और पतले ट्यूब को आर्टरी के संकुचित हिस्से में डाला जाता है. इस हिस्से में एक छोटे गुब्बारे के साथ तार डालकर आर्टरी को चौड़ा किया जाता है.

(और पढ़ें – महिलाओं में हृदय रोग के लक्षण)

कोरोनरी आर्टरी बायपास सर्जरी

इस प्रक्रिया में शरीर के किसी अन्य हिस्से से वेसल लेकर ग्राफ्ट किया जाता है, जिससे संकुचित कोरोनरी आर्टरी में ब्लड फ्लो होना शुरू हो जाता है. यह एक ओपन हार्ट सर्जरी है, जिसे उन लोगों पर ही किया जाता है, जिनकी कई कोरोनरी आर्टरीज संकुचित हो जाती हैं. 

(और पढ़ें – हार्ट पल्पिटेशन का इलाज)

लाइफस्टाइल में बदलाव

धूम्रपान छोड़ना, हेल्दी डाइट लेना, एक्सरसाइज करना, तनाव से दूरी बनाना और वजन को संतुलित बनाए रखना हृदय की सेहत के लिए जरूरी है.

(और पढ़ें – हृदय रोग के लिए योगासन)



Source link

Sponsored: