जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी क्या है, खर्च और कैसे होती है

41


जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी क्या है – What’s Zenker’s Diverticulectomy in Hindi

जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी सर्जरी क्या है?

External Content

जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी एक सर्जिकल प्रोसीजर है, जिसकी मदद से गले में मौजूद जेनकर डायवर्टिकुलम नामक एक असामान्य थैली को निकाला जाता है।

गले के निचले हिस्से को हाइपोफेरिंक्स कहा जाता है, जिसकी मांसपेशियां भोजन को गले से भोजन नली में पहुंचाने का काम करती है। भोजन नली के ऊपरी हिस्से में मौजूद मांसपेशियों को क्रिकोफेरिंजियल (सीपी) मसल्स कहा जाता है, जिसमें लगातार रहने वाला खिंचाव भोजन को स्थिर रखता है। जिस दौरान आप भोजन निगल रहे होते हैं, आपका मस्तिष्क हाइपोफेरिंक्स को संकेत भेजता है, जिससे वह भोजन को इसोफेगस (फूड पाइप) की तरफ धकेलता है। अगले ही मिली-सेकंड के भीतर मस्तिष्क सीपी मांसपेशियों को खुलने का संकेत भेजता है, जिससे भोजन भोजन नली में जा पाता है।

हालांकि, इस बीच एक कमजोर हिस्सा होता है, जिसे किल्लन ट्रायंगल कहा जाता है। यह गले के निचले और भोजन नली के ऊपरी हिस्से में मौजूद होता है, जिसमें कोई मांसपेशी नहीं होती है। इस हिस्से में बार-बार भोजन का दबाव पड़ने पर एक थैलीनुमा संरचना बन जाती है, जिसे जेनकर डायवर्टिकुलम कहा जाता है।

जेनकर डायवर्टिकुलम से ग्रस्त लोगों में निगला हुआ भोजन इस थैली में अटक जाता है, जिससे मुंह से बदबू आना, खांसी और निगलने में कठिनाई जैसे लक्षण होने लगते हैं। इसके लक्षण आमतौर पर 50 से 70 साल के लोगों में देखे जाते हैं। जेनकर डायवर्टिकुलम के इलाज में आमतौर पर आहार में बदलाव, दवाएं और सर्जरी आदि शामिल हैं।

जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी की सर्जरी प्रोसीजर में जेनकर डायवर्टिकुलम को पूरी तरह से निकाल दिया जाता है। हालांकि, जिन लोगों की यह सर्जरी की गई है, उनमें से अधिकतर लोगों को इसके लक्षण फिर से विकसित हो जाते हैं। बार-बार लक्षण विकसित होने की समस्या से निजात पाने के लिए सीपी मांसपेशियों को ही निकाल दिया जाता है, जिस सर्जरी प्रोसीजर जेनकर मायोटमी कहा जाता है। जेनकर मायोटमी को जेनकर डायवर्टिकुलेक्टॉमी के साथ-साथ किया जाता है, जिससे काफी प्रभावी परिणाम मिलता है।

(और पढ़ें – गले में दर्द के कारण)



Source link

Sponsored: