खर्राटे की एलोपैथिक दवा – Allopathic medicines for snoring in Hindi

40

सोते समय खर्राटे आना आम समस्या है, लेकिन खर्राटे आना किसी बीमारी या एलर्जी का कारण हो सकता है. इसके अलावा, नाक बंद होने पर भी खर्राटे आ सकते हैं. दरअसल, नाक बंद होने पर वायुमार्ग में रुकावट आ जाती है और इससे खर्राटे आने लगते हैं. अधिकतर लोगों को लगता है कि खर्राटों का कोई इलाज नहीं है, इसलिए यह सामान्य है और इसे रोका नहीं जा सकता है, जबकि ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है. एलोपैथी में खर्राटों का संपूर्ण इलाज उपलब्ध है. इसके लिए डॉक्टर की सलाह पर दवा या स्प्रे का इस्तेमाल किया जा सकता है.

इस लेख में आप खर्राटों को बंद करने वाली एलोपैथिक दवाइयों के बारे में जानेंगे –

(और पढ़ें – खर्राटे का आयुर्वेदिक इलाज)

External Content



Source link

Sponsored: