इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए एक्यूपंक्चर के फायदे व सावधानियां

19

40 से 70 वर्ष के लगभग 52 प्रतिशत पुरुष इरेक्टाइल डिसफंक्शन से प्रभावित हैं. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि वर्ष 2025 तक विश्वभर में 32 करोड़ से अधिक पुरुष इरेक्टाइल डिसफंक्शन से प्रभावित हो सकते हैं. ईडी के इलाज के लिए कई प्रभावी इलाज का सहारा लिया जाता है. इसके लिए अतिरिक्त चिकित्सीय विकल्पों में पेनाइल पंप, साइकोसेक्सुअल थेरेपी, साइकोलॉजिकल थेरेपी, हर्बल मेडिसिन और वासोएक्टिव ड्रग्स (vasoactive medication) के इंजेक्शन और पेनाइल प्रोस्थेसिस (penile prosthesis) शामिल हैं. इसके अलावा, एक्यूपंक्चर थेरेपी की मदद से भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज किया जा सकता है.

आज इस लेख में आप इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए एक्यूपंक्चर के फायदे व सावधानियों के बारे में विस्तार से जानेंगे –

(और पढ़ें – नपुंसकता के घरेलू उपाय)

External Content



Source link

Sponsored: